- उर्दू शब्दकोष

उर्दू अल्फ़ाज़ के हिंदी अर्थ

  1. शब्द संकेत
    फ़ारसी- फा० /अरबी-अर०
    स्त्री लिंग–स्त्री/पुलिंग–पु०
  2. अंगसी انگسی(स्त्री० फ़ा०- अंग्सी)
    शहद, मधु
  3. अंगुश्त انگشت(पु० फ़ा० )
    उँगली
  4. अंगुश्तनुमा-انگشت نما(फा०)
    जिस की ओर लोगों की
    उंगलियाँ उठे,किसी काम में
    विशेषतःकिसी बुरे काम में
    प्रसिध्द।
  5. अंगुश्तनुमाई-انگشت نمائ
    (स्त्री फ़ा )किसी की ओर
    उंगली उठाना-किसी की ओर
    विशेषतःकोई बुरा काम करने
    वाले की ओर लोगों का
    उंगलियाँ उठाना।
  6. अंगुश्तरी-انگشتری(स्त्री०फा )
    अँगूठी मुद्रिका
  7. अंगुश्ताना-انگشتانہ(पु० फ़ा०
    लोहे या पीतल की उंगली की
    टोपी।जिसे दर्ज़ी सीते समय
    एक उंगली में पहनते हैं।हाथ
    के अँगूठे की एक प्रकार की
    मुँदरी।आरसी।
  8. अंगूरी انگوری( फा० )अंगूर से
    बना हुआ।अंगूर के रंग का।
  9. अंगेज़ انگیز( फा०)उत्पात या
    उत्तेजित करने वाला।भड़काने वाला ।ये किसी दूसरे शब्द के साथ मिलकर आता है।जैसे शरअंगेज़, हैरतअंगेज़।
  10. अंजाम انجام ( पु० फा०)अंत
    परिणाम फल।मुहावरा-अंजाम
    देना- काम पूरा करना।समाप्ति
    तक पहुँचाना।
  11. अंजामकार انجام کار( फा०)
    अंत में।आख़िर।अंततोगतवा।11-अंजीदाانجیدہ( फा०)घायल,
    ज़ख़्मी।
  12. अंजीर انجیر (फा० पु० )
    गुलर जाति का एक पेड़
    और फल।
  13. अंजुम انجم( पु० फा० नज्म
    का बहुवचन)सितारे,तारे
  14. अंजुमन انجمن(पु० फ़ा०)
    सभा मजलिस,संस्था,
  15. अंदरاندر (फा० )भीतर,घर
    के भीतर का कमरा।
  16. अंदरूनीاندرونی(फ़ा०)
    अंदर का,भीतरी।
  17. अंदलीबاندلیب(पु० फ़ा०)
    एक प्रकार की चिड़ियि बुलबुल
  18. अंदाख्र्ता انداختہ(फ़ा-अंदाख़्तः)
    फेका हुआ,छोड़ा हुआ,
    छितराया हुआ।
  19. अंदाज़انداز(पु०फ़ा०)अटकल
    अनुमान,तख़मीना
  20. अंदाज़न् اندازن )अनुमान से।
  21. अंदाज़ाاندازہ(फा०पु०
    अन्द्जः)
    अटकल,अनुमान,कृत।
  22. अंदामاندام (पु० अ०)
    शरीर,बदन,जिस्म
  23. अंदेश اندیش(फा०)करनेवाला
    रखने वाला चाहनेवाला
    यौगिक शब्दों के अंत में लिखते हैं जैसे ख़ैर अंदेश,दूर अंदेश इत्यादि ।
  24. अंदेशाاندیشہ(पु० फ़ा०
    अंदेशः)आशंका,सोच
    फ़िक्र ,शक,संदेह,दुविधा।
  25. अंदेशानाकاندیشہ ناک
    चिंता जनक
  26. अंदोहاندوہ(प० फ़ा०)दुख
    रंज,ग़म
  27. अंदोहगींاندوہ گیں(फ़०)
    दुखी,रंज में पड़ा हुआ।
  28. अंदोहनाकاندوہ ناک
    दुख दाई।
  29. अकड़बाज़(हि०अकड़ना+फ़ा० बाज़)हिंदी और फ़ारसी मिला हुआ शब्द।अभिमानी,घमंडी,लड़ाका।
  30. अक़दस-اقدس(अ०)
    पवित्र,श्रेष्ट
  31. अक़ब عقب(पु० अ०)पीछे-अंत में
  32. अकबर اکبر (फा०)बहुत बड़ा,श्रेष्ठ, महान।
  33. अक़रब اقرب(अ०)बहुत क़रीबी
  34. अक़रब عورب(प०अ०)बिच्छू
    वृश्चिक राशि।
  35. अक़रिबाاقربا(पु० अ० अक़्रिबा-अक़रब का बहुवचन)
    रिश्तेदार, संबंधी।
  36. अक़ल्लاقل थोड़ा कम
  37. अक़ल्लियत اقلیت(स्त्री०अ०)
    अल्पमत,अल्प संख्यक वर्ग।
  38. अक़वाम اقوام(पु०अ० क़ौम का बहुवचन )जातियाँ
  39. अकसर اکثر उमूमन,बारहा,आम तौर पर,बेश्तर
    हमेशा,बहुत ज़्यादा।
  40. अक़साम اقسام(पु० क़िस्म का बहुवचन )प्रकार ।क़सम का बहुवचन शपथ।
  41. अकसीर اکسیر अक्सीर।वो चीज़ जो तांबे को सोना और रांगे को चाँदी बनादे।रसायन ।निश्चित असर करने वाली दवा।
  42. अकाबिर اکابر(पु० अ० अक्बर का बहुवचन)
    बड़े लोग,सयाने लोग।
  43. अक़ायद عقائد(पु० अ० अक़ीदा का बहुवचन)बहुत से मत या विशवास।
  44. अक़ारिब اقارب(पु०अ० अक़ीब का बहुवचन)रिश्तेदार,संबंधी।
  45. अक़ालीम اقالیم(स्त्री०अ० ‘अक़्क़लीम’का बहुवचन)बहुत से राज्य।
  46. अकीक (अ०)उष्ण,गरम।
  47. अक़ीक़عقیق(पु०अ०)एक प्रकार का पत्थर जिसे धारण करने से धड़कन दूर होती है
  48. अक़ीक़ाعقیقہ(पु०अ०अक़ीकः)
    नवजात शिशु का मुंडन तथा नामकरण जो मुसलमानों में जन्म से छटे दिन होता है।
  49. अक़ीदعقید दृढ़ मज़बूत।
  50. अक़ीदतعقیدت(स्त्री०अ०)
    किसी धर्म विशेषतःइस्लाम की वह मूल बात जिसे मान लेने पर मनुष्य उस धर्म में सम्मिलित हो जाता है।
    धार्मिक विश्वास, आस्था।(ख़िराजे अक़ीदत–श्रध्दांजलि )।
  51. अक़ीदा عقیدہ(पु० अ० अक़ीदः)मन मे होनेवाला दृढ़ विश्वास, धर्म,मज़हब
  52. अक़ीम عقیم(स्त्री०) निस्संतान बाँझ।
  53. अक़ील عقیل(स्त्र अ०) अक़्ल मंद बुध्दिमान ।
  54. अकूवत اکوت(स्त्री अ०) दंडसज़ा
  55. अक़्द عقد( पु० अ०)संबंध स्थापित करना,विवाह, शादी, विक्रय, बेचना,इक़रार
  56. अक़्दनामा عقدنامہ(पु० अ० फ़ा०)चिवाह का इक़रार नामा।
  57. अक़्दबंदीعقدبندی(स्त्री अ०फ़ा०)क़रार-निश्चय- विवाह-संबंध।
  58. अक़दहعقدہ(अ०)अत्यन्त दूषित, अक्रमاکرم((अ०)दानशील।
  59. अक्रामاکرام(पु० अ०-करम का बहुवचन,  कृपाएँ।
  60. अक्लاکل(प० अ०)खाना,भोजन।61
  61. अक़्ल عقل(स्त्री० अ०)बुद्धि, समझ
  62. अख़्तियार اختیار(पु० इख़्तियार )अधिकार।
  63. अगरचे اگرچہ(फ़ा० आगरचिः)तधपि,यदि।
    🔹अग़राज़ اغراض(स्ज्ञी०अ०आग़्राज़
    ग़रज़ का बहु०)मतलब,,
    उद्देश्य, अभिप्राय।
    🔹अग़लबاغلب(अ०-अग़्लब)
    बहुत करके,बहुत आवश्यकताएं संभव है कि।
    🔹अग़ल बग़ल اغل بغل इधर उधर,आस पास।
    🔹अग़ियार-अग़्यार اغیار(अ०-ग़ैर का बहुवचन)ग़ैर लोग,शत्रु।
    🔹अज़ از पूर्वसर्ग (फा०)से,जैसे-अज़ जानिब–की
    तरफ़ से।अज़ तरफ़–की तरफ॥ से।अज़ रूए–के अनुसार।अज़ रूए–के तरफ़ से।अज़ रूए क़ानून
    -विधि के अनुसार।
    🔹अज़कारازکار(अ०-ज़िक्र का
    बहुवचन)इश्वर की प्रशंसा,उपासना।प्रवचन, ब्यानात।
    🔹अज़ख़ुदازخود(फ़ा०)स्वयं,
    आप से आप।
    🔹अज़ग़ैबीازغیبی(फ़ा०)छिपा हुआ,रहस्यपूर्ण।
    आजज़ाاجزا(पु० अ०अज्जः- जुज़ का बहुवचन)किसी चीज़ के टुकड़े या भाग।भाग,टुकड़ा।
    🔹अज़दहाازدہا(पु० फ़ा०)बहुत
    बड़ा साँप,अजगर।
    🔹अजदाद اجداد(पु० अ०अज्दाद)बाप दादा,पूर्वज,पुरखे।
    🔹आबा-व-अजदाद–पूर्वज।
    🔹अजनबीاجنبی(पु०अ०
    अज्नबी)-परदेसी,दूसरे शह्र या देश से आया हुआ आदमी,जिसे नहीं जानते,अपरिचित ।
    🔹अजनासاجناس (स्त्री०अ०
    अज्नास।जिन्स का बहूवचन )
    अनेक प्रकार की वस्तुएँ,घर-गृहस्थी की सामग्री, असबाब।
    🔹अजबاخب(अ०)विलक्षण,
    अदभुत,अनोखा।
    🔹अज़बर ازبر(फ़ा०)कंठस्थ,
    कवल स्मरण शक्ति से,ज़बानी
    जेसे-सारी ग़ज़लें अज़बर हैं।
    🔹अज़बसازبس(फा०)बहुत
    अधिक।
    🔹अजमعجم(पु०अ० अज्म)अरब के आस पास के ईरान,तूरान आदि देश। गूंगा।
    🔹अज़रकازرک(अ०अज़्र्क)
    नीला ,
    🔹अजरामاجرام(पु०अ० जिर्म
    का बहुवचन )शरीर, जिस्म,पिंड ।
    पद-अजरामेफ़लकी=आकाश में घूमनेवाले पिंड (ग्रह नक्षत्र आदि)
    अज़रूएازروئے(पूर्वसर्ग फ़ा०)
    क अनुसार,अज़रूए ईमान-ईमान से।
    🔹अजलاجل(स्त्री० अ०)मृत्यु,मौत वक़्त, क़ज़ा।
    🔹अज़ल ازل(पु० अ०)सृष्टि की
    उत्पति,किसी के जन्म का दिन जिसमें उसके भाग्य का निश्चय होता है।
    पद-रोज़े अज़ल-सृष्टि की उत्पति का दिन।
    🔹अज़लाاضلاع(पु० अ०) ज़िला का बहुवचन।
    🔹अज़लीازلی(अ०)अनादि,
    शाश्वत।
    🔹अज़-सरे-नौازسرنو(फ़ा०)
    ने सिरे से ,बिल्कुल आरंभ से।
    🔹अजसामاجسام(पु० अ०-जिस्म का बहुवचन)कायाएँ।
    🔹अज़हदازحد(फ़ा०)हद से ज्यादा,बहुत अधिक,असीम।
    🔹अज़हरاظہر(अ०-अज़्हर)ज़ाहिर,प्रकट,उज्वल।
    🔹अज़ाँازاں(फ़ा०-अज़÷आँ)
    इस से,इसलिए।पद-बाद अज़ाँ=इस के बाद।
    🔹अज़ाज़ीलازازیل(पु०अ०)दुष्ट
    आत्मा,शैतान।
    🔹अज़ानاذان(स्त्री०अ०)नमाज़ की पुकार जो मस्जिदों में होती है।
    बाँग।
    🔹अज़ाबعذاب(पु०अ०)दुःख
    ,कष्ट,संकट,विपत्ति,पापा, दुष्कर्म।
    🔹अजायबعجائب(पु०अ०-अजीब का बहुवचन)विचित्र चीज़ें
    या बाते।हैरत में डालने वाली चीज़ें
    🔹अजायबख़ाना عجائب خانہ
    (पु०अ०फ़ा०)संग्रहालय। अजायबघर
    🔹अज़ीज़عزیز(अ०)प्रिय,प्य्रा।
    पु०-संबधी, रिश्तेदार ।
    🔹अजीबعجیب (अ०)विलक्षण
    अदभुत।
    पद-अजीबोग़रीब-अदभुत,प्रमुख
    विलक्षण।
    🔹अज़ीमعظیم(अ०)वृध्दऔर पूज्य।बहुत बड़ा,विशाल कायम,
    महान।
    🔹अज़ीयत ازیت(स्त्री०अ०)
    किसी को दी गई पीड़ा,अत्याचार।
    🔹अताबुकعطابک(पु०फ़ा०)
    स्वामी,मालिक,राजा या प्रधानमंत्री की एक उपाधि।
    🔹अतालीक़اتالیق(पु०-तुर्की)
    शिष्टाचार सिखाने वाला,उस्ताद,
    गुरु,शिक्षक।
    🔹अतीयाعطیہ(पु०अ०-अतीयः)प्रदान की हुई वस्तु।
    🔹अत्फ़عطف(पु०अ०)इच्छा,
    ख़्वाहिश,कृपा,मेहरबानी।
    🔹अदक् ادق(विशेषन-अ०)
    बहुत कठिन,मश्किल।
    🔹अददعدد(प० अ०)संख्या,
    गिनती,संख्या का या संकेत,अंक।
    🔹अदनाادنٰی (अ०वि०)निचले
    दरजे का,निम्न,तुच्छ,छोटा,बहुत सामान्य।
    पद-अदना व आला=छोटे और बड़े सब।
    🔹अदबادب(पु०अ०)शिष्टाचार,
    कायदा,बड़ों का आदर-सम्मान।
    साहित्य।
    🔹अदमعدم(पु०अ०)न होना,अभाव,अनस्तित्व,मृत्यु।
    पद 1-अदम इक़रार=क़रार या
    अनुबंध का अभाव।
    2-अदम तामील=निष्पादन का
    अभाव,अनिष्पादन।
    3-अदम पैरवी=पैरवी का अभाव।
    4-अदम मौजूदगी=मौजूदगी का
    अभाव,अनुपस्थिति ।
    5-अदम हाज़री फ़रीक़ैन=
    पक्षकारों की अनुपस्थिति में
    🔹अद्लعدل(पु०अ०)नयाय
    इंसाफ़।
    🔹अदवियाادویہ(स्त्री०अ०-अदवियः ‘दवा’का बहुवचन) दवाएं।
    🔹अदाادا(स्त्री०फ़ा०)हाव भाव,
    नख़रा,ढंग,तर्ज़।
    🔹अदा (विशेषन अ०)जो चुका
    दिया गया हो,चुकता।
    मुहावरा-आदाकरना=पालन करना,जैसे–फ़र्ज़ अदा करना,पूरा
    करना,भुगतान करना।🔹अदाबंदीادابندی(स्त्री०फा०)
    प्रेमिका के हाव भावों का चित्रण।
    🔹अदायगीادائگی(स्त्री०अ०)
    अदा होना या करना,भुगतान,जैसे
    क़र्ज़ की अदायगी,ऋण का भुगतान।
    🔹अदालतعدالت(स्त्री०अ०)
    न्यायालय, कचहरी।
    पद–1-अदालते आलिया=उच्च
    न्यायालय ।
    2-अदालते इब्तिदाई=आरंभिक
    न्यायालय ।
    3-अदालते ख़फ़ीफ़ा=लघुवाद न्यायालय ।
    4-अदालते दीवानी=दीवानी न्यायालय ।
    5-अदालते माल=राजस्व न्यायालय ।
    🔹अदालतीعدالتی(वि०अ०)
    अदालत संबंधी,अदालत का।
    🔹अदावत عداوت(स्त्री०अ०वि०-अदावी)
    दुश्मनी,शत्रुता।
    पद–अदावते बिलक़स्द=जान बूझ कर लिया हुआ बैर।
    🔹अदावतीعداوتی(वि०अ०)
    शत्रुतापूर्ण।
    🔹अदीबادیب(पु०अ०)
    साहित्यकार,लेखक।
    🔹अदीमعدیم(वि०अ०)नष्ट प्राय,अप्राप्य,रहित।
    🔹अदूعدو(पु०अ०)दुश्मन,बैरी,शत्रु।
    🔹अद्लعدل(पु०अ०)न्याय,इंसाफ़।
    🔹अनवरانور(वि०अ०-अन्वर)
    बहुत चमकीला,चमकदार,
    शोभायमान।
    🔹अनवाअانواع(पु०अ०-अन्वाअ।नौअ का बहुवचन)
    प्रकार,भेद,क़िस्भें।
    🔹अनवारانوار(पु०अ०-अन्वार।नूर का बहुवचन)रोशनी,प्रकाश।
    🔹अनादिलانادل(स्त्री०अ०-अन्दलीब का बहुवचन)एक प्रकार की चिड़या “बुलबुल”का बहुवचन
    बुलबुलें।
    🔹अनायतعنایت(स्त्री०अ०-इनायत)कृपा,दया,मेहरबानी
    🔹अनारانار(पु०फा०)एक पेड़ और उसके फल का नाम।दाड़िम।
    🔹अनार दानाانار دانہ( पु०फ़ा०-अनारदानः)खट्टेअनार का सुखाया हुआ दाना।
    🔹अनासاناس(पु०अ०) दोस्त,
    मित्र,प्रेम करने या सहानुभूति
    दिखलानै वाला।
    🔹अनासिरعناصر(पु०अ०’अन्सर’का
    बहुवचन) तत्व ।
    🔹अनीस انیس(पु०अ०) प्रेमी,
    मात्र,सखा।
    🔹अन्क़रीबانقریب(क्रि०वि०अ०)
    प्रायः,बहुत थोड़े समय में,निकट भविष्य में।जल्द ही।
    🔹अन्सबانسب(वि०अ०)बहुत
    उचित,बहुत वाजिब।
    🔹अनसारانصار(पु०अ०)सहायता
    करनेवाला।मददगार ।
    🔹अफ़आलافعال(पु०अ०’फ़ेल’
    का बहुवचन)विभिन्न या तरह तरह
    के कार्य,कार्य समूह,कृत्य,प्रभाव।
    🔹अफ़कार افکار(स्त्री०अ०’फ़िक्र’काबहुवचन)
    चिंताएँ।
    🔹अफ़गनافگنवि०फ़ा०अफ़्गन)
    गिराने वाला जैसे-शेरे-अफ़गन=शेर को गिराने वाला
    🔹अफ़ज़ल افضل(वि०-अ०-अफ़्ज़ल)सब में आच्छा,सर्वश्रेष्ठ,
    बहुत उत्तम।
    🔹अफ॔ज़ाافزا(वि०फ़ा०-अफ़्ज़ा)
    बढ़ाने या वृद्धि करनेवाला।(यौगिक शब्दों के अंत में,जैसे-
    रौनक़ अफ़ज़ा-रौनक बढ़ाने वाला,
    दर्द अफ़ज़ा-दर्द बढ़ाने वाला)
    🔹अफ़ज़ाईशافزائش(स्त्री०फा०-अफ़्ज़ाइश)वृद्धि, अधिकता,बढ़ोत्तरी ।
    🔹अफ़ज़ूँافزوں(वि०फ़ा-अफ़्ज़ूँ)
    बढ़ा हुआ।पद-रोज़ अफ़ज़ूँ-नित्य बढ़नेवाला।
    🔹अफ़रादافراد(पु०अ० फ़र्द का बहु०) लोग,
    🔹अफ़लाकافلاک(पु०अ०-फ़लक का बहु०)आकाश।
    🔹अफ़वाजافواچ(स्त्री०अ०-फ़ौज का बहु०)सेनाएं
    🔹अफ़वाह افواہ(स्त्री०अ०-अफ़्वाह)उड़ती ख़बर,बाज़ारू ख़बर,किवदंती।
    🔹अफ़शाँافشاں(स्त्री०फा०-अफ़्शाँ)चांदी या सोने का बुरादा जो औरतें बालों पर छिड़कती हैं।
    मुस्लिम औरतें मांग मे लगाती हैं।
    🔹अफ़सानाافسانہ(पु०)कहानी
    किस्सा,दास्तान,झूठी बात।
    🔹अफ़सुरदाافسردہ(वि०फा०-अफ़्सुर्दः)मुरझाया हुआ,कुम्हलाया
    हुआ,खिन्न,उदास।
    🔹अफ़सूँافسوں(पु०फ़ा०-अफ़्सूँ)जादू,इंद्रजाल,फ़रेब,मकर।
    🔹अफ़सोसافسوس(पु०फ़ा०)
    शोक,रंज,दुख,पश्चाताप,खेद,
    पछतावा।
    पद-अफ़सोस सद अफ़सोस-बहुत ही अधिक अफ़सोस,बहुत दुख।
    🔹अफ़ाक़ाافاقہ( पु०अ०फ़ा०-इफ़ाक़ा)रोग आदि में होने वाली कमी,होश में आना।
    🌹🌹 *शब्द कोश* 🌹🌹
    🔹🔹 *उर्दू से हिंदी*🔹🔹
    🔹अफ़ीफ़عفیف(वि०अ०)दुष्कर्मों से
    बचने वाला,सदा चारी।
    🔹अफ़ीफ़ाعفیفہ(स्त्री०अ०-अफ़ीफ़ः)दुष्कर्मों से बचने वाली
    महिला,सदाचारनी।
    🔹अफ़ूनतعفونت(स्त्री०अ०)बदबू,
    सड़ायँध,दुर्गंध,गंदगी।
    🔹अबख़राابخرہ(पु०-अबख़रः)
    पानी का भाप।
    🔹अबजदابجد(स्त्री०अ०)वर्णमाला।
    🔹अबतरابتر(वि०अ०-अब्तर)
    दुर्दशाग्रश्त,ख़राब,बदहाल
    🔹अबतरीابتری(स्त्री०अ०)
    दुर्दशा,ख़राबी,अव्यवस्था,बदचलनी।
    🔹अबदابد(स्त्री०अ०)अनंत
    या असीम होने का भाव,अनंतता।
    🔹अबरابر(पु०फ़ा-अब्र)बादल,
    घटा,
    🔹अबरसابرص(पु०अ०)कोढ़ी,
    सफ़ेद कोढ़ का बीमार।
    🔹अबराज़ابراز(पु०अ०-अब्राज़)
    प्रकट करना,रहस्य खोलना।
    🔹अबरारابرار(पु०अ०)धर्मभीरू
    व्यक्ति,परहेज़गार लोग।
    🔹अबरेशमابریشم(पु०फ़ा०)
    कच्चा रेशम,रेशम के कीड़े का कोया।
    🔹अबलक़ابلق(वि०अ०)जिस में
    दो रंग हो,चितकबरा,दोरंगा।
    🔹अबलहابلہ(वि०अ०-अब्लह)
    मूकर्ख, बेवक़ूफ़।
    🔹अबवाबابواب(पु०अ०-बाब का बहु०)परिच्छेद,अध्याय,लगान
    शुल्क,दरवाज़े।
    🔹अबसعبث(क्रि०वि०अ०)व्यर्थ
    बेफ़ायदा,नाहक़।वि०-जिसका कोई फल न हो, व्यर्थ,निरर्थक।
    🔹अबसारابصار(पु०अ०-‘बसर’
    का बहु०) आँखें,ज्ञान।
    🔹अबहारابہار(पु०अ०-अब्हार
    बह्र का बहु०)नदियाँ, समुंद्र।
    🔹अबाعبا( स्त्री०अ०)एक प्रकार
    का बड़ा चोगा अरबी पोशाक,जुब्बा।
    🔹अबाबीलابابیل(स्त्री०अ०)काले
    रंग की एक छोटी सी चिड़िया,जो उजड़े मकानों में आधिकतर रहती है।
    🔹अबूابو(पु०अ०)पिता,बाप
    🔹अबजदابجد(पु०अ०)वर्णमाला,
    अरबी वर्णमाला का एक विशिष्ट क्रम,अरबी में वर्णमाला के अक्षरों
    द्वारा अंक सूचित करने की प्रणाली।
    🔹अब्दعبد(पु०अ०)दास,ग़ुलाम
    बंदा।
    🔹अबलक़ابلق(वि०अ०)जिस में
    दो रंग हो,चितकबरा,दोरंगा।
    🔹अबलहابلہ(वि०अ०-अब्लह)
    मूकर्ख, बेवक़ूफ़।
    🔹अबवाबابواب(पु०अ०-बाब का बहु०)परिच्छेद,अध्याय,लगान
    शुल्क,दरवाज़े।
    🔹अबसعبث(क्रि०वि०अ०)व्यर्थ
    बेफ़ायदा,नाहक़।वि०-जिसका कोई फल न हो, व्यर्थ,निरर्थक।
    🔹अबसारابصار(पु०अ०-‘बसर’
    का बहु०) आँखें,ज्ञान।
    🔹अबहारابہار(पु०अ०-अब्हार
    बह्र का बहु०)नदियाँ, समुंद्र।
    🔹अबाعبا( स्त्री०अ०)एक प्रकार
    का बड़ा चोगा अरबी पोशाक,जुब्बा।
    🔹अबाबीलابابیل(स्त्री०अ०)काले
    रंग की एक छोटी सी चिड़िया,जो उजड़े मकानों में आधिकतर रहती है।
    🔹अबूابو(पु०अ०)पिता,बाप
    🔹अबजदابجد(पु०अ०)वर्णमाला,
    अरबी वर्णमाला का एक विशिष्ट क्रम,अरबी में वर्णमाला के अक्षरों
    द्वारा अंक सूचित करने की प्रणाली।
    🔹अब्दعبد(पु०अ०)दास,ग़ुलाम
    बंदा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *