OBO|Live Tarahi|Ghazal|Yograj Prabhakar|Ghazal-go

ओबीओ लाइव तरही 100 – जब तुम्हारा लिखा गया/योगराज प्रभाकर

ओबीओ लाइव तरही 100 में पेश है पटियाला के रचनाकार ओबीओ के प्रधान संपादक व लघुकथा पर आधारित पत्रिका लघुकथा कलश के संपादक श्री योगराज प्रभाकर जी की दूसरी ग़ज़ल- जब तुम्हारा लिखा गया है मुझे जब तुम्हारा लिखा गया है मुझे, तब हसद से पढ़ा गया है मुझे मैं ज़मीं से जुड़ा रहा हूँ …

OBO Live Tarahi 100, Yograj Prabhakar

OBO Live Tarahi-100/Yograj Prabhakar

OBO Live Tarahi-100/Yograj Prabhakar OBO Live Tarahi-100 में पेश है श्री योगराज प्रभाकर जी की एक ग़ज़ल तिश्नगी से मिला गया है मुझे। पिछले आठ वर्षों से अधिक समय से ओपन बुक्स ऑनलाइन द्वारा अनवरत आयोजित किया जाना वाला ओबीओ लाइव तरही मुशायरा हाल ही में अपने आयोजन के सौ अंक पूरे कर चुका है। …