Raah|Rahbar|ghazal|Suneeta Pandey|Ghazalgo

राह में एक राहबर के सिवा – सुनीता पाण्डेय ‘सुरभि’

राह में एक राहबर के सिवा सुनीता पाण्डेय ‘सुरभि’ इलाहाबाद की शायरा हैं। जो अपने लेखनी से अक्सर प्रभावित करती हैं। उनकी यह ग़ज़ल आपको ज़रूर पसंद आएगी। राह में एक राहबर के सिवा कुछ नहीं चाहा हमसफ़र के सिवा एक मरकज़ पे ये नहीं रुकती ज़िन्दगी क्या है इक सफ़र के सिवा ऐसे किरदार …