obo live tarhi 100 ghazal saurabh pandey

ओबीओ लाइव तरही – 100/ सौरभ पाण्डेय

छोड़ कर तू चला गया है मुझे ओबीओ लाइव तरही – 100 में पेश है श्री सौरभ पाण्डेय जी की ग़ज़ल छोड़ कर तू चला गया है मुझे सबसे कहना ये भा गया है मुझे दोस्ती में परत जो होती है यार मेरा दिखा गया है मुझे तुम सियासत के चोंचले रक्खो खेल का ढंग …

Ghazal by Saurabha Pandey in Ghazal go

पगडंडियों के भाग्य में कोई नगर कहाँ – सौरभ पाण्डेय

पगडंडियों के भाग्य में कोई नगर कहाँ पेश है सौरभ पाण्डेय जी की एक ग़ज़ल। इलाहाबाद के शाइर श्री सौरभ पाण्डेय जी छंद के भी अच्छे जानकारों में से एक हैंं। छंद विधान पर उनकी एक उपयोगी किताब छंद मंजरी अंजुमन प्रकाशन से प्रकाशित हुई है। पगडंडियों के भाग्य में कोई नगर कहाँ मैदान गाँव …