ओबीओ लाइव तरही – 100/ सौरभ पाण्डेय

छोड़ कर तू चला गया है मुझे

obo live tarhi 100 ghazal saurabh pandey

ओबीओ लाइव तरही – 100 में पेश है श्री सौरभ पाण्डेय जी की ग़ज़ल

छोड़ कर तू चला गया है मुझे
सबसे कहना ये भा गया है मुझे

दोस्ती में परत जो होती है
यार मेरा दिखा गया है मुझे

तुम सियासत के चोंचले रक्खो
खेल का ढंग आ गया है मुझे

जब कि मेरा ही नाम चलता है
फ़ासले पर रखा गया है मुझे

जब जगत में न भान हो जग का
वो अवस्था बता गया है मुझे

रौशनी की छुअन से सहला कर
चाँद फिर से जगा गया है मुझे

क्या हुआ वो निभा नहीं पाया
सब्र करना तो आ गया है मुझे

सौरभ पाण्डेय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *